software ( सॉफ्टवेयर )आखिर क्या होता है ?

0
533
software ( सॉफ्टवेयर )आखिर क्या होता है

नमस्कार दोस्तों,

सॉफ्टवेयर ( Software ) निर्देशों तथा प्रोग्राम्स का वह समूह है जो कम्प्युटर को किसी कार्य विशेष को पूरा करने का निर्देश देता हैं. यह युजर को कम्प्युटर पर काम करने की क्षमता प्रदान करता हैं. सॉफ्टवेयर के बिना कम्प्युटर एक निर्जीव हैं. Software को आप अपनी आंखों से नही देख सकते हैं. और ना ही इसे हाथ से छूआ जा सकता हैं. क्योंकि इसका कोई भौतिक अस्तित्व नहीं होता हैं. यह एक आभासी वस्तु हैं जिसे केवल समझा जा सकता हैं.

यदि आपके कम्प्युटर में सॉफ्टवेयर नहीं होगा तो आपका कम्प्युटर मृत प्राणी के समान होगा. जो केवल लौह और अन्य धातुओं से बना एक बक्सा मात्र रह जाएगा. यदि आपके Computer में Browsers नही होता तो आप इस Lesson को नही पढ़ सकते थे. इसके अलावा  Photoshop, Adobe Reader, Picasa सभी Software है, जो आपको Computer पर अलग-अलग कार्य करने के योग्य बनाते है.सॉफ्टवेयर आपके कम्प्युटर में जाना फूँकता हैं. उसे काम करने के योग्य बनाता हैं. और सॉफ्टवेयर की मदद से ही आप कम्प्युटर से अपना मन पसंद कार्य करवा पाते हैं.

सॉफ्टवेयर के विभिन्न प्रकार – Types of Software in Hindi

सॉफ्टवेयर  कंप्यूटर के उन प्रोग्रामों को कहते हैं जो कंप्यूटर के संचालन को संभव बनाते हैं यह तीन प्रकार के होते हैं।

  1. सिस्टम सॉफ्टवेयर System Software
  2. एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर Application Software
  3. कस्टम सॉफ्टवेयर Custom Software

what is softwareRemove term: software kya hai software kya haiRemove term: software kise khete hai software kise khete haiRemove term: सॉफ्टवेयर क्या है सॉफ्टवेयर क्या हैRemove term: सॉफ्टवेयर किसे कहते है सॉफ्टवेयर किसे कहते हैRemove term: सॉफ्टवेयर क्या है सॉफ्टवेयर क्या हैRemove term: software softwareRemove term: सॉफ्टवेयर सॉफ्टवेयरRemove term: Introduction of software Introduction of software

सिस्टम सॉफ्टवेयर – 

यह सॉफ्टवेयर कंप्यूटर का संचालन करता है इसे बेसिकऑपरेटिंग सिस्टम भी कहते हैं.दाहरण विंडो यूनिक्स लाइनेक्स आदि ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर हार्डवेयर का प्रबंधन करने वाला सॉफ्टवेयर समूह ऑपरेटिंग सिस्टम कहलाता है. एक अर्थ में कहा जाए तो यह ऐसा सॉफ्टवेयर ( Software )प्रोग्राम होता है जिसके जरिए कंप्यूटर हार्डवेयर संपर्क साधने की क्षमता विकसित करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना एक कंप्यूटर और सॉफ्टवेयर प्रोग्राम की उपयोगिता नगण्य होती है। ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर सिस्टम के हार्डवेयर रिसोर्स जैसे मेमोरी प्रोसेसर तथा इनपुट – आउटपुट डिवाइसेज को व्यवस्थित करता है। यह आंकड़ों एवं निर्देशों के संचरण को नियंत्रित करता है यह कंप्यूटरसिस्टम के प्रत्येक रिसोर्स की स्थिति का लेखा-जोखा रखता है तथा यह निर्णय भी लेता है कि किसका कब और कितना देर के लिए कंप्यूटर रिसोर्स पर नियंत्रण होगा।

विदित हो कि कंप्यूटर की सार्थकता हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर की उपस्थिति में ही मानी जाती है इनके बिना कंप्यूटर का कोई अस्तित्व नहीं। ऑपरेटिंग सिस्टम हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच संपर्क का कार्य करता है यह समस्त हार्डवेयर के बीच संपर्क स्थापित करता है। माइक्रोसॉफ्ट द्वारा नवीन विंडोज 8 तथा 10 का विकास कर दिया गया है तथा वर्तमान समय में विंडोज 10 प्रचलन में है।

2 एप्पल मैक- एप्पल का एकमात्र कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम।

3 उबंटू लाइनेक्स – लाइनेक्स का एक प्रचलित प्रकार।

4 गूगल एंड्राइड – एंड्रॉयड फोन में उपयोग किया जाने
वाला ऑपरेटिंग सिस्टम।

5 आईओएस- एप्पल आईफोन में उपयोग किए जाने वाला
ऑपरेटिंग सिस्टम।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर –

वह सॉफ्टवेयर जिसका प्रयोग किसी बड़े किंतु विशेष कार्य के लिए किया जाता है.आमतौर पर यह ऐसे प्रोग्राम है जो कई अलग अलग स्थानों पर एक
ही तरह का कार्य करने के लिए प्रयुक्त होते हैं. जैसे माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के विभिन्न सॉफ्टवेयर- एमएस वर्ड पावर,पॉइंट आदि.

कस्टम सॉफ्टवेयर –

इस सॉफ्टवेयर का प्रयोग  किसी कार्यालय में काम करने वाले व्यक्ति के कार्य तथा वेतन से संबंधित गणना के लिए किया जाता है.

खून का रंग लाल क्यों होता है

इस कारण बच्चों को नहीं लगती भूख

बच्चों में भी बढ़ रहा है कैंसर का खतरा

जिम में एक्साइज करते समय ना करें यह गलतियां