( Shree ganesh ) श्री गणेश जी काेे क्यू चढ़ाई जाती है दूर्वा ?

0
189
( Shree ganesh ) श्री गणेश जी काेे क्यू चढ़ाई जाती है दूर्वा

नमश्कार दोस्तों,

जानियें क्‍यों ( Shree ganesh ) श्री गणेश जी  को चढ़ाई जाती है दूर्वा  दोस्‍तों सब जगह भगवान गणेश विराजे हुए हैं। गणेशोत्सव के दौरान घर-घर में गणपति की स्थापना की जाती है और भली-भांति पूजा की जाती है। इस दौरान भगवान गणेश को कई चीज़ें अर्पित भी की जाती हैं जिसमें से एक दूर्वा भी है। कहा जाता है कि बिना दूर्वा के भगवान गणेश की पूजा पूरी नहीं होती है। तो चलिए जानते है की भगवान श्री गणेश को क्यों चढाई जाती है दूर्वा.

( Shree ganesh ) श्री गणेश जी काेे चढ़ाई जाती है दूर्वा

दूर्वा चढ़ाते समय बोलें ये मंत्र:

ॐ गणाधिपाय नमः ,ॐ उमापुत्राय नमः ,ॐ विघ्ननाशनाय नमः ,ॐ विनायकाय नमः
ॐ ईशपुत्राय नमः ,ॐ सर्वसिद्धिप्रदाय नमः ,ॐ एकदन्ताय नमः ,ॐ इभवक्त्राय नमः
ॐ मूषकवाहनाय नमः ,ॐ कुमारगुरवे नमः

कथा:

कहते हैं कि प्रचीन काल में  एक असुर था जिसकी वजह से स्वर्ग और धरती के सभी लोग परेशान थे। वह इतना खतरनाक था कि ऋषि-मुनियों सहित आम लोगों को भी जिंदा निगल जाता था। इस असुर से हताश होकर देवराज इंद्र सहित सभी देवी-देवता और ऋषि-मुनि के साथ महादेव से प्रार्थना करने पहुंचे। सभी ने भगवान शिव से प्रार्थना की कि वे इस असुर का वध करें। शिवजी ने सभी देवी-देवताओं और ऋषि-मुनियों की प्रार्थना सुनकर उन्हें बताया कि अनलासुर का अंत केवल गणपति ( Shree ganesh ) ही कर सकते हैं।

पेट में होने लगी थी जलन:

कथा के अनुसार जब गणेश ( Shree ganesh ) ने अनलासुर को निगला तो उनके पेट में बहुत जलन होने लगी। कई प्रकार के उपाय किए गए, लेकिन गणेशजी के पेट की जलन शांत ही नहीं हो रही थी। तब कश्यप ऋषि को एक युक्ति सूझी। उन्होंने दूर्वा की 21 गठान बनाकर श्रीगणेश को खाने के लिए दी। जब गणेशजी ने दूर्वा खाई तो उनके पेट की जलन शांत हो गई। तभी से भगवान श्रीगणेश जी को दूर्वा अर्पित करने की परंपरा शुरु हुई। दोस्तों मैं उम्मीद करता हूँ आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। और मुझे बहुत ख़ुशी होगी अगर ये आर्टिकल आपके थोड़े भी काम आ सके धन्यवाद.

Do you Know :

कुछ ऐसी हॉबी जिन्हें आप अपना करियर बना सकते है